Varun Grover Life and work Style

Varun Grover : एक मशहूर उपन्यासकार,जानें वरुण के जीवन से जुडी बातें

Varun Grover (वरुण ग्रोवर), आज के समय इस नाम से लगभग सभी परिचित है। इनकी लिखी कहानी और उपन्यासों पर कई फ़िल्म बन चुकी है। जिनमे से मसान ,फैंटम लोगों के बीच काफी लोकप्रिय रहीं।

वरुण लेखक और गीतकार होने के साथ ही एक हस्य अभिनेता भी हैं। इनका जन्म 26 जनवरी 1980 में सुंदरनगर, हिमांचल प्रदेश में हुआ था। इनकी माँ शिक्षिका थी और पिता आर्मी में अभियंता ।  शुरूआती जीवन उत्तराखंड में बिताने के बाद यह लखनऊ आ गए, इन्होंने 2003 में IIT ,BHU से सिविल इंजीनियरिंग में स्नातक की पढ़ाई पूरी की  थी।

पढ़ाई पूरी कर यह पुणे में काम करने लगे और इसके बाद 2004 में वरुण मुम्बई चले गए। 2005 में टीवी सीरियल द ग्रेट इंडियन कॉमेडी शो के स्टाफ लेखक के तौर पर इनका चयन हुआ। बाद में यह एक पटकथा कार उपन्यारकार गीतकार और लेखक के रूप में पहचाने जाने लगे।

फ़िल्म उड़ता पंजाब ,रमन राघव, प्रशंसक ,जुबान,मसान ,दमलगा के हईशा जैसे कई फिल्मों के लिए इन्हें श्रेष्ठ गीतकार का पुरस्कार मिला।
वरुण टीवी शो जय हिन्द,10 का दम, रणवीर विनय और कौन जैसे कई सीरियल के लीड लेखक भी रह चुके हैं।

इन्हें 2016 के  63वें राष्ट्रीय पुरस्कार में सर्वश्रेष्ठ गीत के लिए सम्मानित किया गया।फ़िल्म गैंग्स ऑफ़ वासेपुर,मसान ,आई बहार में लिखे इनके गीत के लिए भी इन्हें पुरस्कृत किया गया।

Varun Grover (वरुण ग्रोवर) ने हर रूप में अपनी एक यादगार छाप छोड़ी है।चाहे बात कहानीकार की हो गीतकार की हो या हस्य अभिनेता की वरुण हमेशा अपना श्रेष्ठ प्रदर्शन देते है।

लेखिका:  शाम्भवी मिश्रा


यह भी पढ़े: वैवाहिक जीवन के बाद ऐसी हैं रणवीर और दीपिका की जीवन शैलीजानिए, कैसी हैं अमिताभ की जीवन शैली